5 Killer Blogging Tips In Hindi For Beginners

Blogging & SEO

Blogging एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहां से नाम और पैसा दोनो ही कमाया जा सकता है, पर इतना आसान नही होता है और मुश्किल भी नही है कई ऐसे सामान्य नियम है जो हम अगर उसे फॉलो करते तो आसानी से पैसे कमा सकते है। blogging में भी आजकल इतना कॉम्पिटिशन हो गया है कि बात मत पूछो यार, हर कोई अपने blog को रैंक करवाने में लगा हुआ है। ऐसे में अगर कोई नया blogger आता है तो वो कॉम्पिटिशन देखके हार जाता है। क्योंकि कुछ भी google या फिर और कोई सर्च इंजन में किसी भी टॉपिक पे सर्च कीजिये उनसे रिलेटेड आर्टिकल्स भरे पड़े हुए है। ऐसे में सबसे आगे कैसे आये ये सवाल खड़ा हो जाता है। तो आज में आपको कुछ ऐसी blogging की tips देने वाला हु जो आपके आर्टिकल को google या फिर और कोई सर्च इंजन में अच्छा रैंक दिलवा सके। तो आर्टिकल को शुरू से लेके अंत तक पढिये ताकि आपको सही से समज में आ सके। ये सारी जानकारी उन लोगो के लिए है जो नए नए blogger बनने जा रहे है। उनके लिए ये 5 tips बहोत काम आयेगी।

Article/ Content की क्वालिटी &  Article की Quantity.

1. Quality : आर्टिकल को रैंक करवाने में अगर सबसे इम्पोर्टेन्ट बात होती है तो वो है आर्टिकल की क्वालिटी। अगर आर्टिकल की क्वालिटी अच्छी होगी तो आप जरूर से अपने आर्टिकल को रैंक करवा पाएंगे। अगर आप आर्टिकल सही से नही लिखेंगे तो फिर क्वालिटी इतनी खराब होगी कि कोई visitor आपकी साइट पे आता है तो वो जल्दी से चला जायेगा पूरा आर्टिकल पढ़े बिना। अपने आर्टिकल में कोई भी grammar की मिस्टेक्स नही होनी चाहिए और तो और कुछ ऐसी स्टाइल में लिखिए की जो भी आपका आर्टिकल पढ़ रहा है वो पहेली बार मे ही समज जाए मेरा मतलब है कि वाक्यरचना ऐसी होनी चाहिए। समय समय पे बीच मे अल्पविराम पूर्णविराम ऐसे चिन्ह का भी उपयोग कीजिये ताकि आर्टिकल को पढ़ने वाले को कोई दिक्कत न आये। google भी आपके आर्टिकल की quality देखे बिना कभी रैंक नही करता इसी लिए आर्टिकल की क्वालिटी अच्छी होनी चाहिए। बीच बीच मे पेरेग्राफ बनाइये और तो और कोई ऐसा शब्द या लाइन जो बहोत इम्पोर्टेन्ट है उसे highlight कीजिये ताकि readers का उस पे ध्यान पड़े। आर्टिकल में बीच बीच मे image डालिये जिससे आपका आर्टिकल और अच्छा लगेगा और उसकी क्वालिटी भी बढ़ेगी जिससे कोई भी सर्च इंजन को ये पता चलेगा कि आर्टिकल की क्वालिटी अच्छी है और वो आपके आर्टिकल को रैंक करेगा

2. Quantity : दोस्तो आर्टिकल की quantity भी इतनी ही इम्पोर्टेन्ट है जितनी क्वालिटी। अगर आप किसी भी टॉपिक पे अगर लिख रहे है तो उसके बारे में ज्यादा से ज्यादा लिखिए। अगर आप detail में लिखेंगे तो उसकी effect आपकी वेबसाइट की ट्रैफिक में दिखेगी। जब भी कोई सर्च इंजन में सर्च करता है तो सर्च इंजन सबसे पहले वोही आर्टिकल दिखयेगा जो बहोत लंबा होता है। अगर में अपनी पर्सनल राय दूँ तो आर्टिकल मिनिमम 1000 वर्ड्स का तो होना ही चाहिए। क्योंकि कोई भी सर्च इंजन यही चाहेगा कि जो भी उसके सर्च इंजन में जिस भी टॉपिक पे सर्च करते है उस टॉपिक के बारे में उसको ज्यादा जानकारी दी जाए। इसीलिए आर्टिकल की quantity भी आर्टिकल को रैंक करवाने में इम्पोर्टेन्ट है।

Blog Design / Write Article / Share Social Media.

3. Blog की Design.

इसका भी एक अहम रोल होता है रैंक करवाने में । अगर आप एक wordpress blogger है तो आप सिंपल theme पसंद कीजिये ज्यादा फीचर वाली थीम पसंद करेंगे तो उसे लोड होने में देर लगेगी। जिस वजह से अगर कोई visitor आपकी साइट पे आता है और लोड होने में ज्यादा वक्त लगता है तो वो आपको स्किप करके दूसरी वेबसाइट पे चला जायेगा। कोई भी search engine यही चाहेगा कि जो भी उसके search engine में आके search करता है उसे वो कम से कम समय मे information को उस visitor के पास पहोंचा सके । इसीलिए blog की design simple होनी चाहिए। अगर आपकी साइट लोड होने में ज्यादा समय लेती है तो कभी आप search engine के फर्स्ट पेज पे रैंक नही कर पाएंगे। search engine भी ऐसी website को कभी पहले पेज नही दिखयेगा जो website लोड होने में ज्यादा समय लगता है।

4. खुद का Article लिखे।

इस बात को कभी ignore नही करनी चाहिए। अपना खुद का article होना चाहिए, दुसरो के आर्टिकल्स में से कभी आपको कॉपी नही मारनी चाहिए आप जो भी लिखते है वो आप के ही वर्ड्स होने चाहिए। अगर आप दूसरे आर्टिकल्स में से कॉपी मारेंगे तो आपका blog कभी रैंक नही कर पायेगा। अगर आप दूसरे आर्टिकल से कॉपी मारते है तो जिनके भी आर्टिकल से आपने कॉपी मारी है वो आपके खिलाफ google या फिर और कोई search engine को complain करेगा । जिस वजह से आपकी websites को google या फिर और कोई search engine उसके search engine में दिखाना बंध कर देंगे। जिस वजह से आपको परेशानी जेलनि पड़ सकती है। इसीलिए जो भी लिखे वो खुदका ही होना चाहिए दुसरो का कॉपी नही होना चाहिए। अगर आप कॉपी करते है तो आप google या फिर कोई और search engine के spam लिस्ट में आ जाते है। उनको ये पता चल जाता है कि आपकी website spam करने के लिए ही बनी है। और वो कभी आपकी website को रैंक नही करेंगे।

5. Social Media.

आप को आपकी website के लिए social media के एकाउंट बनाने है जैसे कि facebook, twitter, google+, वगेरे… फिर आपको उन एकाउंट को अपनी website के साथ लिंक कीजिये। इससे ये फायदा होगा कि जो भी visitor आपके blog पे आता है उसे पता चले कि इस website social media से भी जुड़ी हुई है । और वो आपको social media पे भी follow कर सकते है। और आप अगर कोई नया ब्लॉग लिखते है तो उसे अपने social media के account पे शेयर कीजिये ताकि जो भी आपके followers है वो social media के जरिये आपके blog तक पहुंच सके।
अगर दूसरी बात बोलूं तो आपको आपके हर blog में social media पे शेयर करने के लिए लिखना है। जिस वजह से अगर visitor को आपका blog अच्छा लगता है तो वो आपके blog को social media पे भी शेयर कर सकता है। social media एक ऐसा सोर्स है जहां से आप अच्छी खासी ट्रैफिक ला सकते है अपने blog पे।

आज के लिए बस इतनाही comment कर हमें बताइये की article कैसा लगा आपको। अगर कोई सवाल भी है तो वो भी comment में लिखिए हम उसका answer जरूर देंगे आपको। धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *