Bounce Rate

Bounce Rate क्या है? और Bounce Rate को कैसे कम करें?

Bounce Rate क्या है? और Bounce Rate कैसे कम करें? यदि आप Blogging कर रहे है, यां फिर कोई Website है। तो फिर आपको Bounce Rate के बारे में जानना आवश्यक है। हर Blogger और Website Owner को Bounce Rate की चिंता सताती रहती है।

ऐसे में Bounce Rate के बारे में जानना काफी आवश्यक है। आज हम Bounce Rate के बारे में ही बात करेंगे। और यह भी जानेंगे कि Bounce Rate को कैसे कम करें? चलिए शुरू करते है।

Bounce Rate क्या है ?

Bounce Rate

Bounce Rate एक प्रकार का Metrics है, जो आपको Google Analytics में देखने को मिलता है। यह SEO का एक Ranking Factor भी है। Bounce Rate की Definition कुछ इस तरह से है।

कोई भी Visitor किसी भी Web Page पे बिना कुछ किये Landing Page से वापस चला जाता है, तो उसको Web Page का Bounce Rate बोलते है।

मतलब यदि कोई Visitor आपके Blog या Website पे आता है, और उसी Blog से जुड़े हुए दूसरे Web Pages पे Click कीए बिना ही Landing Page से ही वापस चला जाता है, तो उस Website का Bounce Rate काफी ज्यादा बढ़ेगा। चलिए इसको एक Example के जरिए समझते है।

मान लीजिए कि किसी भी Website या Blog पे प्रतिदिन के हिसाब से 100 लोग Visit करते हैं। और उस Website या Blog का Bounce Rate 40% प्रतिशत है। इसका यही मतलब हुआ कि 40 लोग Landing Page से ही वापस चले जाते है, बिना कोई Activity कीए हुए। और 60 लोग है, वह Internal Linking द्वारा Link किये हुए दूसरे Web Page को Visit करते है। तो इस हिसाब से Website का Bounce Rate 40% प्रतिशत हुआ।

Bounce Rate क्यों बढ़ता है ?

Bounce Rate बढ़ने के मुख्यत्वे कई कारण है, इनमे से कुछ ऐसे कारण है , जो काफी Important है। जिसके बारे में जानना आवश्यक है। तो चलिए इसको भी जान लेते Bounce Rate क्यों बढ़ता है।

  1. सबसे पहला कारण Website का User Friendly ना होना। यदि आपकी Website User Friendly नहीं है, तो आपका Bounce Rate काफी हद तक बढ़ेगा।
  2. Website या Blog का Look.
  3. Blog या Website में Internal Linking न करना।
  4. Website या Blog का Loading Time ज्यादा होना।
  5. गलत Keyword पे ब्लॉग या Website का Rank होना।
  6. Content की Quality ख़राब होना।

यही कुछ मुख्यत्वे कारण होते है, जिनकी वजह से आपके Blog या Website का Bounce Rate बढ़ता है। चलिए अब यह जान लेते है, की किस प्रकार की Website के लिए कितना Bounce Rate होना चाहिए।

Bounce Rate कितना होना चाहिए?

किस Website का कितना Bounce Rate होगा, वह भी जानना आवश्यक है। हालाँकि सभी Websites का बाउंस रेट अलग अलग होता है। सभी Categories में आने वाली Websites का बाउंस रेट अलग अलग होता है। Website का उद्देश्य क्या है, इस पे Depand करता है। चलिए इसको Example के द्वारा समझते है।

Example

मान लीजिए कि कोई E- Commerce Website है, तो उसका उद्देश्य यह होता है, की जो भी Customer उनकी Website पे आये वह Products को खरीदे। जब तक Customer का Order Confirm नही हो जाता है, तब तक वह Bounce ना करे।

यदि में Weather दिखाने वाली Websites की बात करूँ तो, वह Website का एक ही उद्देश्य होता है, की आपको Weather क्या है, वह बताए। जब आप Google में Weather के बारे में Search करते है, और जो सबसे पहले नंबर पे दिखने वाली Website को खोलते है, फिर उसपे Weather देख के Bounce Back करते है। वहाँ से आगे आपका उद्देश्य कुछ भी नही होता है। इसीलिए आप Bounce Back करते है। सिर्फ आपको Weather ही तो चेक करना है। ऐसे में इस तरह की Websites का बाउंस रेट 95% से 100% के अंदर ही रहता है। इसका यह मतलब नही है, की इस Website को Google Rank नही करेगा। क्योंकि Google को भी पता होता है, की Website का उद्देश्य क्या है।

आप भी सबसे पहले यह जान लीजिए कि आपकी Website का उद्देश्य क्या है? उस हिसाब से आपका Bounce Rate तय होगा। यदि आप Blogging करते है, और आपके Blog का बाउंस रेट 90% से ज्यादा है, तो यह आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है। क्योंकि लोग ज्यादातर आपके Blog पे टिक ही नही रहे है। 90% से ज्यादा लोग आपके Blog को Bounce करते है। यदि में अपनी राय दूँ तो एक Blogger के लिए सबसे बढ़िया Bounce Rate 40% – 60% होना चाहिए। आपका Blog यदि इस Metrix के अंदर है तो, फिर आपको कोई चिंता करने की जरूरत नही है। यदि आपको भी पता नही है, की आपकी Website का बाउंस रेट कितना है, तो आप Google Analytics में देख सकते है।

यदि आपके Blog या Website का Bounce Rate 70% से ज्यादा है, तो फिर आपको आपकी Website का Analysis करना चाहिए, कि कोनसी ऐसी वजह है, की लोग Bounce करते है। analysis करने के बाद, उसपे Action लेना शुरू कीजिए।

चलिए अब यह जान लेते है, की Bounce Rate को कैसे कम करे।

Bounce Rate को कैसे कम करें?

वैसे तो बाउंस रेट को कम करने के बहुत से ऐसे तरीके है, लेकिन जो सबसे जरूरी है, उसीके बारे में ही बात करूंगा। तो चलिए शुरू करते है।

Bounce Rate

1. सही तरीके से Internal Linking किजिए।

Internal Linking सबसे बढ़िया तरीका है, Bounce Rate को कम करने का। Visitor जिस Page पे Land करता है, यदि उसी Page पे Internal Link नही डाली होती है, तो वह Landing Page से ही वापस चला जाएगा। यह मायने नही रखता है, की वह कितनी देर तक आपके Page पे टिक पाया। आपके Landing Page को छोड़ के चले जाना ही Bounce Back हो जाता है। क्योंकि Visitor को आगे जाने या कोई Action लेने के लिए उस Page पे कुछ भी नही है।

यदि आप सही तरीके से Internal Linking करते है, तो वह Visitor Bounce Back करने की बजह आपके दूसरे Page को Visit करेगा। और ऐसे ही आपके Blog पे गोल मटोल घूमता रहेगा। और आपका Bounce Rate भी घटेगा।

Internal Linking के लिए आपको रणनीति अपनानी होगी। आप जिस भी Blog Page पे Internal Linking करते है, उसी Page से Related दूसरे Page को Link करना चाहिए। ताकि Visitor उसको देख के Click करे और दूसरे Page को Visit करें।

2. Website की Speed को Improve करें।

Website की स्पीड भी Bounce Rate को बढ़ाने या घटाने के लिए Matter करती है। यदि आप Website की Speed को कैसे Improve करे?(यहाँ पे क्लिक कीजिए) उसके बारे में Detail में जानना चाहते है, तो आप हमारे दूसरे Blog पढ़ सकते है। इस Blog में विस्तारपूर्वक आपको नही बताऊंगा।

Website की Speed यदि कम है, तो Bounce Rate बढ़ने के ज्यादा Chance होते है। जब कोई Visitor Landing Page पे Land करता है, तब उस Landing Page को Open होने के लिए ज्यादा वक्त लगेगा, तो Visitor Bounce Back कर जाएगा। Google भी यही कहता है की, जिस भी Website की Speed ज्यादा होगी वह First Rank करेगा। इसीलिए Website की Speed को भी Improve करना जरूरी है।

3. Helpful Content लिखिए।

यदि आप Blog में कुछ भी लिख देते है, तो Visitor Bounce Back करेगा। आप Helpful Information दीजिए। Visitor को क्या चाहिए, उसके बारे में लिखिए। यदि आप Visitor को Helpful माहिती प्रदान करते है, तो आपको बहुत ही फायदे साबित होंगे। वह आपके दूसरे Blog को भी Visit करेगा। औऱ हो सकता है, की वह आपके Blog का Daily Reader बन जाए। ऐसे बहुत से सारे फायदे है। Content की Quantity पे नही Quality पे Focus करना जरूरी है।

यदि Content की Quality बेकार है, तो वह आपके दूसरे Blog को भी Read नही करेगा। इसीलिए आपको Quality Content लिखना जरूरी है।

4. Blog को User Friendly बनाइये।

Blog को User Friendly बनाने का मतलब आप जानते है, Blog को User Friendly बनाने का मतलब, Blog को Proper Navigate करना होता है। यदि Blog को Proper Navigate नही किया हुआ है, तो Bounce Rate काफी बढ़ेगा।

आपके Blog का Look कैसा है, वह मायने नही रखता है। आपने कितने भी Colorful Fonts का Use क्यों न किया हुआ है, इससे आपके Blog का बाउंस रेट कम नही हो जाएगा। Content को कैसे Represent करते है, उसपे Focus कीजिए।

वैसे तो कई ऐसी बिनजरूरी सामग्री होती है, जिनकी Visitor या आपको जरूरत नही होती है। ऐसी सामग्री को Blog से हटा देनी चाहिए।

Blog को कुछ इस तरह से Design करना चाहिए कि, जब भी कोई Visitor कोई Action लेता है, तो उसको दिक्कत ना हो।

5. Content Writing

आप Content कैसे लिखते है। यह भी बहुत इम्पोर्टेन्ट है। आपको Content के अंदर Headings, Sub-Headings भी डालने चाहिए। Paragraph की Length ज्यादा नही होनी चाहिए। Catchy Words का ज्यादा उपयोग नही करना चाहिए। Title Click Bait नही होना चाहिए। Images भी डालने चाहिए।

आप जो भी Content लिखते है, उनको आसान भाषा मे समजाने की कोशिश कीजिए। बीच बीच मे Images का भी प्रयोग कीजिये। ऐसा करने से आप Bounce Rate को काफी हद तक कम कर पाएंगे।

Bounce Rate का SEO पे क्या असर पड़ता है?

हर Website Owner यही चाहते है, की उनकी Website का बाउंस रेट कम हो। क्योंकि इसका SEO पे काफी असर पड़ता है। जब भी आप Google में First Page पे Rank करते है, तब Google आपकी Website को Monitor करता है। ऐसे में यदि Visitor आपकी Website से Bounce Back करता है, तो Google यह Notice जरूर करता है। Google यह नही देखता की आपने Content को कैसे लिखा है। वह Visitor के Bounce Back करने से यह तय कर लेता है, की आपके Content में कुछ भी दम नही है, और आपको First Page से हटा देता है। इसीलिए आपको Bounce Rate पे भी Focus करना जरूरी होता है।

Conclusion

उम्मीद है, दोस्तों की आपको पता चल गया होगा कि Bounce Rate क्या है? और Bounce Rate को कैसे कम करें? यदि फिर भी कोई प्रश्न है, तो आप हमें Comment Box में जरूर बताइये। हम उसका उत्तर आपको अवश्य देंगे।

इस Blog में लिखने में यदि कोई भूल हो गई हो तो, आपसे तहे दिल से माफी मांगता हूं। और आपकी क्या राय है, वह भी हमें जरूर बताइये। आपकी राय हमे लिखने के लिए Motivate करते है। यदि आपको सारी माहिती पसंद आई हो, तो इसको Social Media पे Share करना मत भूलिए। धन्यवाद दोस्तो।

Rate this post

1 comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *